Essay in hindi samay ka sadupyog. Short Essay on Samay ka Mahatva in Hindi : समय के महत्व पर निबंध 2019-01-06

Essay in hindi samay ka sadupyog Rating: 8,5/10 317 reviews

Samay ka sadupyog a smart essay for kids in Hindi for higher classes in excellent channel by ritashu

essay in hindi samay ka sadupyog

समय का सदुपयोग करना सब तरह से लाभकारी रहता हैं. वह शारीरिक दृष्टि से कमजोर पड़ जाता है. Mitchell, Dan Jurafsky elie cs. इसलिए यही समय है कि खुद को तराशिये और जीवन में आगे बढिए. आलस्य को मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु माना गया हैं. विद्यार्थी काल ही व्यक्ति की सफलता और असफलता का मापक होता हैं, इसलिए इस काल में अपने समय का सही प्रयोग करे.


Next

ESSAY/SPEECH ON SAMAY KA SADUPYOG FOR SCHOOL KIDS BY HINDI TUBE BABA

essay in hindi samay ka sadupyog

Bachha agar galti kare to maa use premse samzati hai taaki woh aisi galti phirse na kare. अगर आपको हमारी पोस्ट Samay ka sadupyog par nibandh पसंद आई हो तोह इसे शेयर जरुर करे और हमारा Facebook पेज लाइक करना न भूले और हमें कमैंट्स के जरिए बताएं आपको हमारी पोस्ट Hindi essay on samay ka sadupyog कैसी लगी. वह प्रत्येक काम उचित समय पर करने के लिए तैयार रहता हैं. समय के लिए समान है और समय कभी किसी की प्रतीक्षा नहीं करता. Short Essay on Samay ka Mahatva in Hindi : Hindi Essay Samay ka Sadupyog समय बहुत बलवान है यह कभी रुकता नहीं और ना ही किसी का इंतजार करता है यह निरंतर चलता ही रहता है। हर इंसान के जीवन में कोई न कोई लक्ष्य होता है जीवन में लक्ष्य हासिल करने के लिए हमें समय के महत्व को जानना होगा जो इन्सान आज का काम कल पर छोड़ता है वह कभी सफल नहीं हो पाता है। जो लोग आज के कार्य को आज व् अभी करने में यकीन रखते हैं वे अक्सर जीवन में सफलता हासिल करते हैं। भाग्य भी उनका साथ देता है वे जीवन में उच्च से उच्चतर लक्ष्य की तरफ बढ़ते हैं। जीवन में समय के महत्व को न समझना समय की कदर ना करना आपको कमजोर बनाता है यही वजय है के कुछ लोग अपने जीवन में सफल नहीं हो पाते हैं। इसीलिए आज का काम कल पर मत छोड़ो। Samay ka Mahatva महान वैज्ञानिक थॉमस अल्वा एडिसन जो के अपने बचपन के दिनों में सब्जी बेचकर पैसे कमाते थे उनके अध्यापक उन्हें बुद्धू समझते थे जीवन में कठोर से कठोर परिस्थितियों का सामना करते हुए वे डटे रहे। उन्होंने समय के महत्व को समझ लिया था इसीलिए वे कभी समय को व्यर्थ नहीं गंवाते थे वे लगातार परिक्षम करते रहते थे और आज अध्यापकों के उस बुद्धू विदार्थी को हम एक महान वैज्ञानिक के रूप में जानते हैं। उन्होंने रेडियम की खोज कर सारे जगत को रोशन कर दिया।.

Next

ESSAY/SPEECH ON SAMAY KA SADUPYOG FOR SCHOOL KIDS BY HINDI TUBE BABA

essay in hindi samay ka sadupyog

जीवन में उन्नति की कुंजी समय का सदुपयोग ही है. दिनचर्या नियमित होने पर परीक्षाएं और कठिन कार्य भी सहजता से हो जाते हैं क्योंकि उनके लिए पूर्ण समय मिल जाता हैं. छात्रों को तो समय के सदुपयोग पर विशेष ध्यान देना चाहिए. समय का दुरूपयोग करने वाला व्यक्ति आदमी, गप्पी, आलसी, पर निंदक, व्यर्थ घूमने वाला, नासमझ एवं कर्तव्यहीन होता हैं. समाज में उनका आदर होता है.

Next

samay ka sadupyog essay in hindi

essay in hindi samay ka sadupyog

यह बहुत जरुरी हैं, क्योंकि इससे जीवन व्यवस्थित हो जाता हैं. और महान बनाकर विश्व के सामने खड़ा कर देता हैं. पढ़ाई से ही वह अपनी जिंदगी में कुछ करने के लायक बन सकता है दोस्तों आजकल बहुत सारे student होते हैं जो इस स्कूल कॉलेजों में पढ़ने जाते हैं और अपने मां बाप का बहुत सारा पैसा बर्बाद करते हैं वह अपना कीमती समय पढाई से ज्यादा खेलने कूंद्ने और गलत काम करने में अपना समय बर्बाद करते हैं दोस्तों हम सभी को समय का सदुपयोग करना चाहिए और हर मां बाप को अपने बच्चों की देखभाल करना चाहिए जिससे वह अपने समय को बर्बाद ना करें क्योंकि दुनिया में समय एक ऐसी चीज है जो एक बार चला जाए तो वापस कभी नहीं आता. समय को टालने वाला नासमझ माना जाता हैं. बच्चे की शिक्षा उसके जन्म से आरम्भ हो जाती हैं. वे ही लोग जीवन में सफल बनते है जो समय का ठीक उपयोग करते है. वास्तव में समय एक बहुत हीअद्भुत चीज है। समय का न तो कोई आदि है और न ही कोई अंत है। सभी चीजें अपने निश्चित समय पर जन्म लेती, बड़ी होती और फिर ख़ास समय पर नष्ट हो जाती हैं। समय सदैव अपने ढंग से चलता रहता है। समय ही सबका संचालन करता है। समय किसी की प्रतीक्षा नहीं करता चाहे वह राजा हो या रानी। समय का विश्लेषण भी नहीं किया जा सकता है। हम व्यतीत समय व उसकी उपयोगिताओं को समझने के लिए सचेत हैं। हमने समय की रफ़्तार को देखने के लिए घड़ियों का भी निर्माण किया। हमने दिन, दिनांक और सालों को अपने हिसाब से मापने की योजना भी तैयार की परं वास्तव में समय एक अविभाज्य और अमापनीय चीज है। लोगों ने समय को ही सबसे बड़ा धन माना? उसका जीवन अभावों से भरा रहता है.

Next

Hindi Essay on “Samay ka Sadupyog ” , ” समय का सदुपयोग” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

essay in hindi samay ka sadupyog

समय अनमोल होता हैं, इसलिए विद्यार्थियों को अपने समय के एक एक क्षण का सदुपयोग करना चाहिए. वह दुनिया में काफी आगे बढ़ा है दोस्तों कहते हैं कि अगर कोई स्वादिष्ट फल खाने को मिल जाए और उसका स्वाद आप ना ले पाये तो इससे बुरा कुछ हो नहीं सकता इसी तरह से अगर आपके पास बहुत सारा समय है और उसको आप सही उपयोग नहीं कर रहे हो और उसको किसी ऐसे काम में लगा रहे हो जिस का कोई उपयोग नहीं है तो आप जिंदगी में कुछ भी नहीं कर पाओगे. इससे व्यक्ति आलसी नहीं रहता हैं. हमें सबसे अमूल्य धन समय का सदुपयोग करना चाहिए, तथा आलस्य का त्याग कर कल करे सो आज कर को अपने जीवन का आदर्श बनाना चाहिए. समय कभी किसी का इन्तजार नहीं करता हैं. समय का सदुपयोग न करने वाला पछताता हैं, इसलिए कहा गया है, समय चुकि पुनि पछताने. जो व्यक्ति इस काल में समय का सदुपयोग करता है , उसका भावी जीवन संटक हीन बनाता है.


Next

समय का सदुपयोग पर निबंध

essay in hindi samay ka sadupyog

परन्तु बीता हुआ समय पुनः नहीं मिलता हैं. जो व्यक्ति इस काल का सदुपयोग न करके अन्य कार्यों में व्यस्त होता है वह अपने गृहस्त जीवन में असफल हो जाता है. संत कबीर ने कहा है काल करे सो आज करे सो अब करे. उनका पारिवारिक जीवन सुख - शान्ति से विकसित होता है. There may be fewgrammar mistakes which can be corrected easily on your own. यही वह समय होता है, जब उसकी संस्कारशाळा प्रारम्भ होती हैं. वह निंदा का पात्र बनेगा और जीवन के अंतिम क्षणों में उसे पछ्लता पडेगा , पछताने से भी उसके हाथ कुछ नही आयेगा.

Next

समय के सदुपयोग निबंध

essay in hindi samay ka sadupyog

जो व्यक्ति समय का सदुपयोग नही करता उसका जीवन नष्ट हो जाता है. जो व्यक्ति समय की कद्र नहीं करता अथवा टाइम के मुताबिक स्वयं को चला नही पाता है वह बहुत पिछड़ जाता हैं. इन साधनों ने हमारी जिन्दगी को अत्यन्त सुलभ… सदाचार सदाचार दो शब्दों के मेल से बना है सत + आचार अर्थात हमेशा अच्छा आचरण करना । सदाचार मानव को अन्य मानवों से श्रेष्ठ साबित करता है। सदाचार का गुण मानवों में महानता का गुण सृजित करता है। सदाचार ही वह गुण है जिसे हर व्यक्ति लोगों में देखने की इच्छा रखता है। मानव को समस्त जीवों में श्रेष्ठतम माना जाता है, क्योंकि मानव ने अपने विवेक और सदाचार से अपनी महानता सर्वत्र साबित की है। सदाचार का गुण व्यकित में सामाजिक वातावरण तथा पारिवारिक माहौल से उत्पन्न होता है। जो व्यकित इन गुणों को आत्मसात कर पाता है, वह समाज के लिए मार्गदर्शक और प्रेरणादायी होता है। हम इतिहास के पन्नों में झांक कर देखें तो पाते हैं कि जितने भी महापुरूष, कवि, लेखक तथा महान व्यकित उत्पन्न हुए सभी ने सदाचार के गुणों को आत्मसात किया और उसे अपने जीवन में अपनाया। आज भी स्वामी विवेकानन्द, महर्षि दयानंद सरस्वती, महात्मा गांधी, लाल बहादुर शास्त्री, अब्राहम लिंकन, कार्ल मार्क्स, मदर टेरेसा आदि को उनके सदाचारी प्रवृत्ति के कारण ही याद किया जाता है। हमें अपने जीवन में सदाचार को पूरी गंभीरता से शामिल करना चाहिए। इस प्रकार हम अपने ज…. समय पर काम करने वाले को बाद में पछताना नही पड़ता हैं. ऐसा व्यक्ति कोई भी काम ठीक प्रकार नही कर सकता.

Next

समय का सदुपयोग हिंदी निबंध Samay ka sadupyog par nibandh

essay in hindi samay ka sadupyog

उपसंहार- उसके हर क्षण का सदुपयोग करो. I never graduated from college. वह अपने भावी जीवन को भी सुखमय बनावे. संसार में जितने भी महापुरुष हुए हैं उनके जीवन की सफलता का रहस्य समय समय का सदुपयोग ही रहा हैं. अगर हमने उस समय का दुरुपयोग किया तो ये जिंदगी के लिए बहुत घातक साबित हो सकता है दोस्तों अगर हम स्कूल या कॉलेज टाइम में पढ़ाई करें और एक टाइम टेबल के साथ सब कुछ करें तो जिंदगी में हम बहुत कुछ कर सकते हैं जिंदगी में बहुत आगे बढ़ सकते हैं दुनिया में जिसने भी समय की वैल्यू को समझा है वह आज बहुत आगे है,इसलिए समय का सदुपयोग करना चाहिए क्योंकि समय ही है जो हमें उन उंचाइयों पर पहुंचा सकता है जिन् ऊंचाइयों पर पहुंचने के सपने देखते हैं.

Next